अचानक टूटा शोंग-टोंग परियोजना की ट्रॉली का हुक, शिमला व कुल्लू के दो कामगारों की दबने से मौत

किन्नौर में पहले भी कई बार इस तरह के हादसे पेश आ चुके हैं। बीते 7 मई 2022 को भी मूरंग तहसील के रिस्पा और मूरंग के बीच निर्माणाधीन 150 मेगावाट की जलविद्युत परियोजना टिडोंग में हादसा हो गया था।

अचानक टूटा शोंग-टोंग परियोजना की ट्रॉली का हुक, शिमला व कुल्लू के दो कामगारों की दबने से मौत
शोंग-टोंग जलविद्युत परियोजना में हादसा।

रिकांगपिओ: किन्नौर जिला में सतलुज नदी पर निर्माणाधीन 450 मेगावाट क्षमता वाली शोंग-टोंग जलविद्युत परियोजना में निर्माण कार्य के दौरान ट्रॉली टूटने से एक दर्दनाक हादसा पेश आया है। हादसे में दो कामगारों की मौत हो गई है। हादसा सोमवार देर रात 2:00 बजे पेश आया।

मिली जानकारी के अनुसार निर्माण कार्य के दौरान सुरंग के अंदर काम करते हुए रल्ली स्थित शर शाफ्ट में अचानक ट्रॉली का वायर टूट गया और दो कामगारो की मौत हो गई। मृतक की पहचान में बिहारी लाल उम्र 49 गांव शुला पोस्ट ऑफिस ननखड़ी जिला शिमला और खूब राम गांव गुमन उम्र 35 पोस्ट ऑफिस निरमंड जिला कुल्लू  के रूप में हुई हैं। 

बता दें कि किन्नौर में पहले भी कई बार इस तरह के हादसे पेश आ चुके हैं। बीते 7 मई 2022 को भी मूरंग तहसील के रिस्पा और मूरंग के बीच निर्माणाधीन 150 मेगावाट की जलविद्युत परियोजना टिडोंग में हादसा हो गया था।

यहां हिमालयन कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के पांच कामगार सुबह करीब पौने छह बजे प्रेशर शाफ्ट की लिफ्ट से ड्यूटी पर जा रहे थे। इसी बीच लिफ्ट का हुक टूटने से मजदूर लिफ्ट समेत 70 मीटर नीचे जा गिर गए। हादसे में दो कामगारों की मौत हो गई थी और तीन घायल हो गए थे। मृतकों में एक हमीरपुर और दूसरा झारखंड का रहने वाला था। 

मामले में एसपी अशोक रतन बताते हैं कि एचपीपीसीएल जलविद्युत परियोजना का निर्माण कार्य के दौरान दो सुपरवाइजर अपनी टीम को काम बताकर ट्रॉली से ऊपर आ रहे थे। इसी बीच ट्रॉली का हुक टूट गया। इससे दोनों सुपरवाइजर ट्रॉली के नीचे दब गए, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

उन्होंने बतया कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस कर्मियों और कंपनी प्रबंधन ने शव वहां से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए क्षेत्रीय चिकित्सालय रिकांगपिओ भेज दिए। परियोजना का काम देख रही पटेल कंपनी के खिलाफ लापरवाही बरतने पर धारा 336 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।