TTR हादसा: पर्यटकों का आरोप होटल प्रशासन ने नहीं की मदद, CM बोले- सुरक्षा चूक का लिया जाएगा कड़ा संज्ञान

घटना की सूचना मिलने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारियों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हुआ। वहीं, एनडीआरएफ टीम ने मौके पर पहुंचकर 4:30 बजे सभी यात्रियों को रेस्क्यू कर लिया। सूचना मिलते ही सूबे के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर..

TTR हादसा: पर्यटकों का आरोप होटल प्रशासन ने नहीं की मदद, CM बोले- सुरक्षा चूक का लिया जाएगा कड़ा संज्ञान

सोलन: परवाणु के टीटीआर में केबल कार में तकनीकी खराबी होने के चलते हुए हादसे में एनडीआरएफ ने सभी 11 यात्रियों को रेस्क्यू कर लिया है। 

वहीं, टीटीआर में फंसे यात्रियों का कहना है कि उन्हें टीटीआर प्रशासन की तरफ से किसी भी प्रकार की मदद नहीं की गई, जब प्रशासन उनके पास आया तो उन्होंने कहा कि इस तरह के हादसे होते रहते हैं और अपनी जान जोखिम में डालकर अगर उतर सकते है तो उतर जाओ। यात्रियों का कहना है कि वो सुबह 10:30 बजे टिंबर ट्रेल में बैठे थे और दोपहर 2 बजे प्रशासन को सूचना दी गई है, जबकि ये कदम टीटीआर प्रशासन को जल्द उठाना चाहिए था। 

बहरहाल, घटना की सूचना मिलने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारियों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हुआ। वहीं, एनडीआरएफ टीम ने मौके पर पहुंचकर 4:30 बजे सभी यात्रियों को रेस्क्यू कर लिया। सूचना मिलते ही सूबे के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी खुद हमीरपुर से सोलन पहुंचे। मौके पर पहुंचे एनडीआरएफ के कमांडेंट ने बताया कि उन्हें जैसे ही सूचना मिली वो मौके पर पहुंचे और सभी यात्रियों को केबल कार से उतारा। 

मौके पर पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस हादसे को लेकर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि इस तरह के हादसे हिमाचल में होना चिंता का विषय है। जब यात्री इस माहौल में फंस चुके थे, तो टीटीआर प्रशासन को जल्द से जल्द प्रशासन को सूचित करना चाहिए था। उन्होंने कहा कि जैसे ही प्रशासन को सूचना मिली, वैसे ही एनडीआरएफ और एयर फोर्स की टीमें टीमें मौके पर पहुंच गई थी। 

सीएम जयराम ठाकुर ने बताया कि परवाणु टीटीआर में केबल कार में कुल 11 यात्री फंसे थे, जिन्हें सुरक्षित रूप से निकाल दिया गया है। अब वे लोग अपने घर जा रहे हैं। सीएम जयराम ठाकुर ने पर्यटकों से भी आग्रह किया कि जब भी वे लोग हिमाचल आए तो उनका स्वागत है, लेकिन वे लोग सुरक्षा नियमों का पालन करें। मुख्यमंत्री ने इस मामले को लेकर जांच के आदेश दिए और कहा कि जहां कहीं भी सुरक्षा के हिसाब से चूक हुई है, वहां निश्चित रूप से कड़ा संज्ञान लिया जाएगा।