ये सिरमौर कांग्रेस के नेता हैं या गली के गुंडे! नाहन में हाई वोल्टेज ड्रामा, थाने पहुंचा मामला

कांग्रेस की आपसी गुटबाजी अब थाने तक पहुंच चुकी है। मामला जिला सिरमौर का है। यहां कांग्रेस के दो बड़े नेताओं के बीच जमकर बवाल हुआ।

ये सिरमौर कांग्रेस के नेता हैं या गली के गुंडे! नाहन में हाई वोल्टेज ड्रामा, थाने पहुंचा मामला
नाहन में हाई वोल्टेज ड्रामा।

नाहनः हिमाचल प्रदेश विधानसभा के इसी साल चुनाव हैं। कांग्रेस चाहेगी कि पुराना रिवाज हिमाचल में बरकरार रहे। यानी एक बार बीजेपी और एक बार कांग्रेस सत्ता पर काबिज होती रहे। लेकिन फिलहाल ऐसा होता नहीं दिख रहा है। 

किरनेश जंग से जब पत्रकारों ने बात की तो वो लड़खड़ाते हुए जवाब दे रहे थे, कई लोग बता रहे हैं कि वो शराब के नशे में थे, जैसा वीडियो में देखा जा सकता है, हालांकि पहाड़ प्राइम इसकी पुष्टि नहीं करता है और अपने दर्शकों की पेनी नजर पर हम इस सवाल को छोड़ जाते हैं।

कांग्रेस की आपसी गुटबाजी अब थाने तक पहुंच चुकी है। मामला जिला सिरमौर का है। यहां कांग्रेस के दो बड़े नेताओं के बीच जमकर बवाल हुआ। मामला पुलिस थाने तक पहुंच गया। इतना ही नहीं पांवटा साहिब से कांग्रेस नेता और पांवटा साहिब विधानसभा से निर्दलीय चुनाव जीत चुके किरनेश जंग पर शराब पीकर मारपीट करने के आरोप तक लग गए।

हाल ही में सिरमौर कांग्रेस की गुटबाजी पीसीसी चीफ प्रतिभा सिंह के सामने जगजाहिर हो चुकी थी। अब बीते कल शिमला में पार्टी की बैठक में हिस्सा लेकर वापिस नाहन लौट रहे सिरमौर कांग्रेस के नेता आपस में भी भिड़ गए। 

दरअसल खबर ये है सिरमौर कांग्रेस के उपाध्यक्ष रूपेंद्र ठाकुर ने पांवटा साहिब के पूर्व विधायक किरनेश जंग सहित सिरमौर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कंवर अजय बहादुर सिंह सहित एक अन्य युवा नेता पर मारपीट के आरोप लगाए है। जबकि पूर्व विधायक किरनेश जंग ने सभी आरोपों को नकारा है। 

उधर, सिरमौर पुलिस के अनुसार कांग्रेसी नेता रूपेंद्र ठाकुर की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष रूपेंद्र ठाकुर ने आरोप लगाया कि वो अपनी गाड़ी में शिमला से पार्टी की बैठक में हिस्सा लेकर वापिस लौट रहे थे, तभी पांवटा साहिब के पूर्व विधायक किरनेश जंग ने उनकी गाड़ी के आगे अपनी गाड़ी लगा दी। 

वो बताते हैं कि उनके साथ साथ मारपीट, गाली गलौच और जान से मारने की धमकी दी गई। पूर्व विधायक के साथ गाड़ी में कंवर अजय बहादुर सिंह व एक अन्य युवा नेता के साथ चालक मौजूद था। इसके बाद वह किसी तरह पुलिस थाना नाहन में पहुंचे।

उधर, जब इस पूरे प्रकरण पर पांवटा साहिब के पूर्व विधायक किरनेश जंग से इसे बीजेपी का सियासी ड्रामा करार दिया। कांग्रेसी नेता रूपेंद्र ठाकुर द्वारा लगाए गए मारपीट के आरोपों को पूर्व विधायक ने सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा कि शिमला में मीटिंग के बाद उनकी रूपेंद्र ठाकुर से कोई मुलाकात नहीं हुई। मारपीट के आरोप बेबुनियाद है।

यहां ये जानना बेहद जरुरी है कि सिरमौर कांग्रेस का एक धड़ा पार्टी के जिलाध्यक्ष कंवर अजय बहादुर सिंह को उनके पद से हटाने की मांग कर रहा है। इस संबंध में हिमाचल प्रभारी को एक पत्र भी लिखा गया था। हाल ही में प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह की मौजूदगी में भी हाई वोल्टेज ड्रामा सामने आया था। 

इस पूरे घटनाक्रम के बाद जहां बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता खुश होगें। वहीं ये घटना जिला मुख्यालय नाहन में पेश है, ऐसे में नाहन और पांवटा साहिब बीजेपी इस मुद्दे को लेकर फ्रंट फुट पर खेलेगी। कांग्रेस के लिए इस मुद्दे को दबाना इतना आसान नहीं होगा।