लटक गई बस, अटक गई सांसे, HRTC तुम ऐसी तो ना थी!

हद तो तब हो गई जब आज परिवहन विभाग की एक बस सड़क से नीचे लटक गई। ये तो गनीमत रही कि उस वक्त बस में सवारियां नहीं थी। लेकिन चालक तो अपनी सीट पर हमेशा की तरह डटा हुआ था।

लटक गई बस, अटक गई सांसे, HRTC तुम ऐसी तो ना थी!
घटनास्थल।

बिलासपुरः बीते दिनों एचआरटीसी बस की खस्ताहालत को लेकर हमने एक खबर आप को दिखाई थी। हमारे एक दर्शक ने कमेंट किया कि "एचआरटीसी को आखिर किसकी नजर लग गई है। जल्द से जल्द पंडित को दिखाकर परिवहन मंत्री को हवन यज्ञ करवाना चाहिए"। 

अब एचआरटीसी को किसी की नजर लगी है या परिवहन विभाग बस की व्यवस्था पर नजर नहीं रख पा रहा है। यह तो आप लोग तय करें। लेकिन एचआरटीसी बसों की खस्ताहालत किसी से छुपी नहीं है और बीते 1 महीने से ऐसी खबरें दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। 

हद तो तब हो गई जब आज परिवहन विभाग की एक बस सड़क से नीचे लटक गई। ये तो गनीमत रही कि उस वक्त बस में सवारिया नहीं थी। लेकिन चालक तो अपनी सीट पर हमेशा की तरह डटा हुआ था। खबर ये है कि नालागढ़ डिपो की एक बस चंडीगढ़ से नैना देवी की तरफ जा रही थी। चंडीगढ़ से आते समय नैना देवी की चढ़ाई पर बस का इंजन खराब हो गया और बस लगातार धुआं छोड़ने लगी। 

बस में बैठी करीब 20 सवारियां और श्रद्धालु चिल्लाने लगे। तभी चालक ने सूझबूझ दिखाई और बस को रोक दिया। सवारियों को कहा कि आप नीचे उतर जाइए। करीब 20 सवारियां जो बस में सवार थी वो बस से नीचे उतरी और एक अन्य बस के द्वारा उन्हें श्री नैना देवी पहुंचाया गया। 

खबर यहीं खत्म नहीं होती। इसके बाद ड्राइवर ने बस को मोड़ना चाहा तो मोड़ते हुए बस के पिछले 2 टायर सड़क से बाहर चले गए। बस वहीं पर लटक गई। थोड़ी देर तक तो बस झूलने लगी। काफी मशक्कत करने के बाद बस को वापस सड़क पर लाया गया। 

मां नैना देवी की कृपा से यहां एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। लेकिन क्या मां नैना देवी की कृपा परिवहन निगम पर इसी तरह बनी रहेगी या फिर परिवहन मंत्री और जयराम सरकार को कृपा दिखानी होगी। क्योंकि हिमाचल की जनता ये पूछ रही है कि चुनावी साल में आपने महिलाओं के लिए बसों में आधा किराय माफ करने का ऐलान तो कर दिया लेकिन हमें जान प्यारी है। किराया तो आता जाता रहेगा।