कमरे पर नहीं था किराएदार तो मकान मालिक ने की पार्टी, कंबल लेने के लिए खोला बेड तो मिली लाश

नाबालिग को आरोपी ने क्यों मारा। नाबालिग के साथ क्या बलात्कार किया गया। नाबालिग की मौत क्या दम घुटने से हुई। ये तमाम सवाल जरुर है, लेकिन इसके जवाब जांच के बाद ही सामने आ पाएंगे।

कमरे पर नहीं था किराएदार तो मकान मालिक ने की पार्टी, कंबल लेने के लिए खोला बेड तो मिली लाश
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

किन्नौरः पिछले हफ्ते किन्नौर के भावानगर से एक नेपाली मूल की 13 साल की लड़की अचानक से गायब हो जाती है। नाबालिग की मां उसे ढूंढने के लिए कई जगह पर लोगों से पूछताछ करती है, लेकिन उसका कोई पता नहीं चल पाया। 

14 मई को महिला भावानगर पुलिस थाने में पहुंचती है। महिला को पड़ोस में रहने वाले मनोज पर शक था। कहा कि मेरी बेटी को सिक्किम के रहने वाले मनोज नाम के युवक ने अगवा कर लिया है। पुलिस ने मामला दर्ज किया और अपनी जांच शुरू कर दी।

मनोज सिक्किम का रहने वाला है और बीते 5 साल से भावनगर में किराए के कमरे में रहता है। लेकिन बीते कुछ दिनों से वो कमरे पर नहीं था। शनिवार को उसके मकान मालिक के कुछ दोस्त आए। उन्हें पार्टी करनी थी। मकान मालिक ने सोचा कि क्यों न किराएदार का कमरा खोल कर इस्तेमाल किया जाए। क्योंकि किराएदार तो यहां पर नहीं है। 

उन्होंने ताला तोड़कर दरवाजा खोला और अपने दोस्तों के साथ पार्टी की। काफी देर तक पार्टी करने के बाद उन्हें जब लगा कि कुछ रजाई या कंबल ओढ़ा जाए तो उन्होंने बेड को खोला, लेकिन जैसे ही उन्होंने बेड को खोला उनके मुंह से चीख निकल पड़ी। क्योंकि बेड के अंदर मुंह में कपड़ा ठूसा एक लड़की का शव था। 

ये उसी लड़की का शव था। जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भावानगर थाने में नेपाली मूल की महिला ने दर्ज करवाई थी। उन्होंने देखा कि लड़की के दोनों हाथ पीछे की तरफ बांधे हुए हैं। मुंह में कपड़ा ठूसा हुआ है और लड़की मर चुकी है। 

उन्होंने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। शव को कब्जे में लिया पोस्टमार्टम के लिए आईजीएमसी शिमला भेजा गया।

आरोपी अपने साथ नाबालिग लड़की के भाई का फोन भी लेकर फरार हो गया था। पुलिस ने तहकीकात शुरू की। मोबाइल फोन की लोकेशन ढूंढी गई तो वो लोकेशन राजधानी दिल्ली में देखी गई। भावानगर से पुलिस की एक टीम ने जरा भी देर नहीं की और तुरंत दिल्ली के लिए रवाना हो गई। 

दिल्ली पुलिस को इस मामले में अवगत करवाया गया और दिल्ली पुलिस की मदद से 24 घंटे के अंदर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। डीएसपी राजू ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि आरोपी के खिलाफ भादसं की धारा 302 और 201 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। शव का पोस्टमार्टम आईजीएमसी शिमला से करवा कर परिजनों के हवाले कर दिया गया है। आरोपी को कोर्ट में पेश करने के लिए ले जाया गया है।