UP के सुंदरम का जैसा नाम वैसा काम, लगा चुके हैं 1 लाख 25 हजार पौधे

सुंदरम का जैसा नाम है वैसा ही इनका काम है। वो बतातें हैं कि बीती 7 अप्रैल को लखनऊ से उन्होंने ये यात्रा शुरू की थी।

UP के सुंदरम का जैसा नाम वैसा काम, लगा चुके हैं 1 लाख 25 हजार पौधे
सुंदरम तिवारी की पर्यावरण संरक्षण संपूर्ण भारत साइकिल यात्रा पहुंची बिलासपुर।

बिलासपुरः हिमाचल प्रदेश के लोगों के लिए मेरा ये संदेश है कि जैसा सुंदर और स्वच्छ हिमाचल आपको आपके पुर्वजों ने दिया है, वैसा ही सुंदर और स्वच्छ हिमाचल वो अपनी आने वाली पीढ़ी को दें। ये बातें किसी नेता ने नहीं कही है और ना ही खबर लिखने वाले ने। 

ये बेहद गंभीर और महत्वपूर्ण बातें उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के रहने वाले 26 वर्षीय सुंदरम तिवारी ने कही है। ना सिर्फ कही है, बल्कि इसे साकार करने का काम भी कर रहे हैं।

सुंदरम तिवारी इन दिनों पर्यावरण संरक्षण संपूर्ण भारत साइकिल यात्रा पर निकले हैं। अपनी इस यात्रा के दौरान वो उत्तराखंड से हिमाचल पहुंचे और आज सुंदरम ने बिलासपुर में पत्रकारों के साथ बातचीत की। 

सुंदरम का जैसा नाम है वैसा ही इनका काम है। वो बतातें हैं कि बीती 7 अप्रैल को लखनऊ से उन्होंने ये यात्रा शुरू की थी। उस समय उत्तर प्रदेश के पर्यावरण मंत्री ने तिलक लगाकर उन्हें यात्रा के लिए रवाना किया। वो उत्तराखंड भी गए और वहां के मुख्यमंत्री से भी मिले। 

उन्होंने कई सामाजिक विषयों के बारे में चर्चा भी की। सुंदरम ये भी बताते हैं कि अपनी यात्रा के दौरान वो समाज के कई प्रबुद्ध लोगों के साथ बैठकें कर रहे हैं। पूरी यात्रा में करीब 51 हजार बैठकें करने का उनका लक्ष्य है। साथ ही स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों के छात्रों को पर्यावरण के बारे में भी जानकारी दे रहें है। 

सुंदरम कोरोना काल से पहले भी यात्रा कर चुके हैं। उस दौरान उन्होंने 36 जिलों में स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में करीब 1 लाख 25 हजार पौधे लगाए। खबर बताने का मकसद यही है एक तरफ जहां हमारे नेता भाषणों में ही ऐसी बातें करते हैं। लेकिन असलियत में कुछ नहीं होता है। 

तो दूसरी तरफ सुंदरम जैसे लोग कहते भी हैं और कर भी रहे हैं। वाकई में सोचिएगा जरुर कि जितना सुंदर और स्वच्छ हिमाचल हमें हमारे पूर्वजों ने दिया है। क्या हम ऐसा सुंदर और स्वच्छ हिमाचल आने वाली पीढ़ी को देंगे। सोचिएगा जरुर।