खालिस्तानी झंडा मामले में दूसरा आरोपी गिरफ्तार, हिमाचल पुलिस ने पंजाब में धरा

लिस के पास न सीसीटीवी फुटेज था और ना कोई अहम सुराग, लेकिन दोनों आरोपियों को एक हफ्ते में गिरफ्त में ले लिया गया। कॉल डाटा रिकार्ड एसआईटी के लिए एक अहम कड़ी बनी।

खालिस्तानी झंडा मामले में दूसरा आरोपी गिरफ्तार, हिमाचल पुलिस ने पंजाब में धरा
खालिस्तानी झंडा मामले में दूसरा आरोपी गिरफ्तार।

धर्मशाला: तपोवन स्थित विधानसभा परिसर में खालिस्तान के झंडे लगाने और दीवारों पर खालिस्तान लिखने के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने मामले में दूसरे आरोपी परमजीत को पंजाब से गिरफ्तार कर लिया है।

इस मामले में हिमाचल पुलिस और पंजाब पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर पंजाब के मोरिंडा से एक आरोपी हरवीर सिंह को गिरफ्तार किया है। हरवीर सिंह को पुलिस ने चार दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था। पुलिस ने हरवीर सिंह के लिए सात दिन के पुलिस रिमांड की मांग की थी, लेकिन अदालत की ओर से पुलिस को 16 मई तक रिमांड पर रखने का समय दिया गया है।

पुलिस के पास न सीसीटीवी फुटेज था और ना कोई अहम सुराग, लेकिन दोनों आरोपियों को एक हफ्ते में गिरफ्त में ले लिया गया। कॉल डाटा रिकार्ड एसआईटी के लिए एक अहम कड़ी बनी। जिसके आधार पर पुलिस ने मोरिंडा में छापामारी की और आरोपी को पकड़ा गया। इसके बाद पहली गिरफ्तारी से कुछ और जानकारी हाथ लगी और अब पुलिस ने दूसरे आरोपी को भी धर लिया है। 

दरअसल, मामले में दोनों आरोपी धर्मशाला के नजदीक एक होम स्टे में रात को ठहरे थे। इसके बाद दोनों ही होम स्टे से स्कूटर पर विधानसभा भवन तक गए और रात को झंडे और वॉल राइटिंग कर उन्होंने वीडियो बनाया और वहां से खिसक गए। रात का समय था और धर्मशाला परिसर में सीसीटीवी न होने की वजह से आरोपी किसी की नजर में नहीं आए।