आधी रात को झूम रहे थे पर्यटक, तलाशी ली तो मिली 201 बोतल शराब, चरस और...

आधी रात को पर्यटक मस्ती में झूम रहे थे। तभी अचानक पुलिस मौके पर पहुंचती है।

आधी रात को झूम रहे थे पर्यटक, तलाशी ली तो मिली 201 बोतल शराब, चरस और...
कांसेप्ट इमेज।

कुल्लू: नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी को रोकने के लिए हर साल 26 जून को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस यानि विश्व ड्रग दिवस मनाया जाता है। 

आज नशे से संबंधित आंकड़ों को जारी किया जाता है। साथ ही लोगों को ड्रग्स के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक किया जाता है।

हिमाचल में नशे के रूप में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली चीज है शराब। और इसके बाद कई और नशे भी अब गुप्त बाजार में चल रहे हैं। 

अगर हम एक आंकड़े पर नजर डालें तो हिमाचल में आने वाले ज्यादातर पर्यटक नशे के शौकीन होते हैं। फिर चाहे वो शराब का ही नशा क्यों ना हो।

ताजा मामला जिला कुल्लू में सामने आया है। बीती देर रात पार्वती घाटी के गांव शिमला में एक रेव पार्टी का आयोजन किया जा रहा था। राजस्थान निवासी कशिश ने म्यूजिक एंड साउंड सिस्टम चलाने की अनुमति ली थी। 

देर रात कुल्लू पुलिस ने इस जगह पर अचानक रेड की। रेड के दौरान हेमंत तोमर नामक युवक से शराब की करीब 200 बोतलें बरामद की गई।

जांच की तो पता चला कि यह तमाम शराब की बोतलें बाहरी राज्यों से लाई गई थी। हेमंत नामक युवक को गिरफ्तार किया गया है। उसे आज अदालत में भी पेश किया गया। जिसके बाद पुलिस ने उसे रिमांड पर ले लिया है। 

साथ ही 46 ग्राम चरस और ₹27000 कैश भी बरामद किया गया है।

इसके अलावा पार्टी के संचालक राजस्थान निवासी 24 साल के युवक कशिश गुल्याणी से 6.43 ग्राम MDMA, 0.18 ग्राम LSD व 2 लाख 9 हजार ₹ कैश बरामद किया है। 

पार्टी मे मौजूद रायसन निवासी धर्मेन्द्र कुमार नामक युवक से 7.24 ग्राम चरस और 85500 ₹ बरामद किए है। 

पार्टी मे मौजुद कर्नाटक के रहने वाले पांच युवको चेतन, संदेश, मैहमूद सूलेमान, रेहान और नितिन उजमली नीलकंण्ठया के कब्जे से 35.09 ग्राम चरस, 0.18 ग्राम MDMA तथा एक LSD पेपर बरामद किये गए हैं। 

उपरोक्त सभी युवको के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम व आबकारी अधिनियम के तहत अलग-अलग मुकदमे पंजीकृत किये गए हैं।