गली-चौराहे पर नहीं, विधानसभा परिसर के गेट पर चस्पा कर दिए खालिस्तानी झंडे, लिखा "ਖਾਲਿਸਤਾਨ"

मामले की सूचना मिलते ही पुलिस और SDM शिल्पी वेकटा भी मौके पर पहुंची हैं।

गली-चौराहे पर नहीं, विधानसभा परिसर के गेट पर चस्पा कर दिए खालिस्तानी झंडे, लिखा "ਖਾਲਿਸਤਾਨ"
धर्मशाला विधानसभा के बाहर लगे झंडे।

धर्मशालाः बीते काफी समय से हिमाचल प्रदेश में खालिस्तानी झंडा फहराने की बात सामने आती रही और ये बात विवादास्पद आतंकवादी गुरपतवंत सिंह पन्नू करता आया है। उसने कई बार धमकी दी कि हिमाचल की राजधानी या ऊना डीसी ऑफिस परिसर में खालिस्तानी झंडा लहराया जाएगा। 

हिमाचल प्रदेश सरकार लगातार कहती रही कि यह सिर्फ गीदड़-भभकी है और खुफिया एजेंसियां सहित हिमाचल पुलिस लगातार ऐसी गतिविधियों पर नजर रखती आ रही है। लेकिन रविवार यानी आज सुबह जब धर्मशाला की जनता उठी तो देखा कि तपोवन में विधानसभा परिसर के मुख्य गेट और दीवारों पर खालिस्तानी झंडे चिपकाए गए थे। 

इतना ही नहीं, दीवार पर कई जगह पंजाबी भाषा में खालिस्तान  लिखा गया है। जबकि मुख्य गेट पर भी खालिस्तान के झंडे चिपकाए गए हैं।

बता दें कि बीते दिनों गुरपतवंत सिंह पन्नू ने शिमला में झंडा लहराने की धमकी दी थी। वहां तो कुछ नहीं हो पाया लेकिन हिमाचल की दूसरी राजधानी धर्मशाला में ये पूरा वाक्या सामने आ गया है। विधानसभा परिसर के बाहर  इस तरीके से झंडे लगाना बेहद ही गंभीर विषय है। 

मामले की सूचना मिलते ही पुलिस और SDM शिल्पी वेकटा भी मौके पर पहुंची हैं।