हिमाचल पुलिस ने नष्ट किए 70 मामलों में बरामद करोड़ों के नशीले पदार्थ

नष्ट की गई सामग्री में 24 किलोग्राम चरस, 118 किलोग्राम भुक्की (चुरापोस्त), 60 ग्राम 60 मिलीग्राम स्मैक, 10 ग्राम हैरोइन व 9 हजार 360 नशीली दवाइयां शामिल रही।

हिमाचल पुलिस ने नष्ट किए 70 मामलों में बरामद करोड़ों के नशीले पदार्थ
बिलासपुर में नष्ट की गई नशीली सामग्री।

बिलासपुर: पुलिस द्वारा नशाखोरों से बरामद सामग्री लंबे समय तक थाने में ही पड़ी रहती है। जैसे-जैसे समय बीतता है, तो उसके चोरी व हेराफेरी का डर रहता है। ऐसे में हिमाचल में नशाखोरों से बरामद खेप को नष्ट करने के अभियान की शुरुआत बिलासपुर से की गई है। गुरुवार को हिमाचल पुलिस महानिदेश संजय कुंडू की अगुवाई में भारी मात्रा में 70 मामलों में बरामद सामग्री को एसीसी सीमेंट उद्योग बरमाणा में नष्ट किया गया। 

नष्ट की गई सामग्री में 24 किलोग्राम चरस, 118 किलोग्राम भुक्की (चुरापोस्त), 60 ग्राम 60 मिलीग्राम स्मैक, 10 ग्राम हैरोइन व 9 हजार 360 नशीली दवाइयां शामिल रही। इस दौरान पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए डीजीपी संजय कुंडू ने बताया कि कई बार पुलिस द्वारा नशे की बड़ी खेप पकड़ती जाती है और लंबे समय तक यह सामग्री थाने में ही पड़ी रहती है। जैसे-जैसे समय बीतता है, तो उसके चोरी व हेराफेरी का डर रहता है। इसके लिए बिलासपुर से इसकी शुरूआत की गई है। 

डीजीपी संजय कुंडू ने पुलिस अधीक्षक बिलासपुर व उनकी पूरी टीम को बधाई दी। इसके बाद मंडी व कुल्लू में यह अभियान चलाया जाएगा। नियमों के मुताबिक नशे की सामग्री को एक विशेष मशीनरी में नष्ट किया जाता है। यह मशीनरी उपलब्ध करवाने के लिए डीजीपी ने एसीसी प्रबंधन का आभार प्रकट किया। डीजीपी कहते हैं कि इस अभियान के माध्यम से यह संदेश दिया गया कि हिमाचल प्रदेश में ड्रग्स व मादक पदार्थ का कोई स्थान नहीं है। नशे की जंजीरों में जकड़ती हिमाचल की युवा पीढ़ी को बचाने के लिए हिमाचल पुलिस का अभियान लगातार जारी है।