हिमाचल कबड्डी टीम में एक ही हॉस्टल के 7 खिलाड़ी, खेलो इंडिया में GOLD लेकर लौटे

बिलासपुर लौटने पर हॉस्टल के प्रभारी विजय नेगी की अगवाई में इन खिलाड़ियों का भव्य स्वागत किया गया और कॉलेज चौक से विजय रैली निकाली गई।

हिमाचल कबड्डी टीम में एक ही हॉस्टल के 7 खिलाड़ी, खेलो इंडिया में GOLD लेकर लौटे
साई हॉस्टल बिलासपुर में विजेता कबड्डी खिलाड़ियों का स्वागत।

बिलासपुर: हिमाचल की कबड्डी टीम ने पहली बार 'खेलो इंडिया' में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा है। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि विजेता टीम में साई हॉस्टल बिलासपुर के सात खिलाड़ी शामिल हैं। वहीं, हिमाचल कबड्डी टीम की कमान भी इसी हॉस्टल के खिलाड़ी शिवांश ठाकुर ने संभाली। 

हिमाचल की टीम ने शिवांश ठाकुर की अगवाई में बेहतर प्रदर्शन करते हुए मंगलवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में  मेजबान हरियाणा को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। वहीं, बिलासपुर लौटने पर हॉस्टल के प्रभारी विजय नेगी की अगवाई में इन खिलाड़ियों का भव्य स्वागत किया गया और कॉलेज चौक से विजय रैली निकाली गई। 

आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश की कबड्डी टीम ने पहली बार खेलो इंडिया टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई किया था और गोल्ड पर कब्जा भी जमा लिया। मेजबान हरियाणा के साथ हुआ फाइनल मुकाबला काफी रोमांचक रहा। बीच में मुकाबला 34-34 के अंक पर बराबर हो चुका था, लेकिन बाद में टाईब्रेकर से हिमाचल की टीम ने हरियाणा को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम कर इतिहास रचा।

सदर विधायक सुभाष ठाकुर ने भी विजेता खिलाड़ियों से मुलाकात कर शुभकामनाएं दी। इस दौरान विधायक सुभाष ठाकुर ने कहा कि खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। जिसके चलते उन्हें जीत हासिल हुई है। उन्होंने कोच, खिलाड़ियों के साथ ही इन होनहार खिलाड़ियों के अभिभावकों को भी जीत के लिए बधाई दी। 

सुभाष ठाकुर ने कहा कि खेलों में युवाओं को अपनी भूमिका निभानी चाहिए। खेलों से शरीरिक, मानसिक, बौद्धिक विकास होता है। वहीं, युवा नशे से भी दूर रहता है। विधायक ने कहा कि युवाओं को खेलों में भाग लेना चाहिए। खेलों में बेहतर प्रदर्शन कर भी युवा अपना भविष्य संवार सकते हैं। बिलासपुर के कई खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर आज बेहतर पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने खिलाड़ियों से आह्वान किया की कड़ी मेहनत करें और इसी तरह भविष्य में बिलासपुर और हिमाचल का नाम रोशन करें।