आग बुझाते हुए सिरमौर में बड़ा हादसा, वनकर्मी की मौत

हादसा फॉरेस्ट रेंज कफोटो के तहत जामना बीट में पेश आया। यहां आग बुझाने में लगे वनकर्मी कल्याण सिंह निवासी कांडों की मौत हो गई। वनकर्मी कल्याण सिंह आग बुझाने का प्रयास कर रहा था।

आग बुझाते हुए सिरमौर में बड़ा हादसा, वनकर्मी की मौत
कल्याण सिंह, वनकर्मी (पुरानी तस्वीर)

पांवटा साहिबः हिमाचल के जंगलों में बीते कई दिनों से आग लग रही थी। बीते कल कई जिलों में बारिश हुई। ऐसे में वहां जंगलों में लगी आग बुझ गई। लेकिन जिला सिरमोर के कई क्षेत्रों में बारिश नहीं हुई। ऐसे में वहां के जंगलों में भड़की आग आज भी लगातार जारी है। 

सिरमौर के गिरीपार क्षेत्र में बीते दिनों शरारती तत्वों ने जामना के नजदीकी जंगलों में आग लगा दी। जिसे बुझाने के लिए वनकर्मी लगातार प्रयास कर रहे थे। आग से लाखों की वन संपदा जलकर राख हो गई। लेकिन आज एक वनकर्मी ने भी आग बुझाते-बुझाते दम तोड़ दिया। 

हादसा फॉरेस्ट रेंज कफोटो के तहत जामना बीट में पेश आया। यहां आग बुझाने में लगे वनकर्मी कल्याण सिंह निवासी कांडों की मौत हो गई। वनकर्मी कल्याण सिंह आग बुझाने का प्रयास कर रहा था। इसी बीच उनका पांव फिसला और वह सड़क पर पड़े पत्थर के ऊपर गिर गए। उनका सिर सीधा पत्थर से टकरा गया। 

सिर पर गहरी चोट आने के कारण आनन-फानन में उन्हें उत्तराखंड के निजी अस्पताल लेहमन पहुंचाया गया। लेकिन वहां उपचार से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया। वनकर्मी कल्याण सिंह के शव को पांवटा अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए लाया गया। कफोटा रेंज के अधिकारी बस्तीराम बताते हैं कि वनकर्मी कल्याण सिंह को आज पांव फिसलने के बाद सिर पर चोट लगी। जिस कारण उनकी ड्यूटी के दौरान मौत हो गई। 

उन्होंने बताया कि वनकर्मी कल्याण सिंह बहुत ही मिलनसार और बहादुर कर्मचारी था। जिसके चलते कफोटा रेंज में वन माफियाओं और अवैध शराब माफियाओं में हमेशा डर रहता था। सरकार द्वारा तय नियम के अनुसार उनके परिवार के किसी एक सदस्य को करुणामूलक आधार पर नौकरी दी जाएगी। जिसकी रिपोर्ट सरकार को भेजी जानी है।