HRTC वर्कशॉप में धधकी भयानक आग, चपेट में आई बस राख, 100 से ज्यादा टायर भी जले

नाइट ड्यूटी पर तैनात चौकीदार ने तुरंत आग लगने की सूचना अग्निशमन विभाग और एचआरटीसी के उच्च अधिकारियों को दी। जिस बस ने आग की लपटें पकड़ी थी उसी के साथ अन्य चार बसें भी खड़ी थीं।

HRTC वर्कशॉप में धधकी भयानक आग, चपेट में आई बस राख, 100 से ज्यादा टायर भी जले
HRTC वर्कशॉप में धधकी भयानक आग।

शिमला: राजधानी शिमला के ढली एचआरटीसी वर्कशॉप में मंगलवार देर रात करीब 9:30 बजे अचानक आग लग गई। आग की चपेट में एचआरटीसी की एक बस पूरी तरह से जलकर राख हो गई। 100 से ज्यादा टायर जलकर खाख हो गए और इसके अलावा अन्य सामान भी आग की चपेट में आ गया। 

नाइट ड्यूटी पर तैनात चौकीदार ने तुरंत आग लगने की सूचना अग्निशमन विभाग और एचआरटीसी के उच्च अधिकारियों को दी। जिस बस ने आग की लपटें पकड़ी थी उसी के साथ अन्य चार बसें भी खड़ी थी, लेकिन एचआरटीसी चालकों ने तत्परता से चारों बसों को तुरंत वहां से हटा दिया। जिससे अन्य बसें आग की चपेट में आने से बच गईं।

सूचना मिलने पर अग्निशमन विभाग की मालरोड, छोटा शिमला और बालूगंज से टीमें मौके पर पहुंची। अग्निशमन के पांच वाहनों ने कड़ी मशक्कत के बाद करोड़ों की संपत्ति को राख बनने से बचा लिया और आग पर काबू पाया जा सका। अग्निशमन कर्मियों के अनुसार वर्कशॉप में रखरखाव रिकॉर्ड कक्ष के बाहर शॉर्ट सर्किट की वजह से आग भड़की। यहां पर पुराने टायरों का स्टोर था और इस वजह से चंद सैकंड में आग की लपटें भड़क गईं। 

ये भी पढ़ें: हिमाचल के युवक को उत्तराखंड के युवक हुआ प्यार, मंदिर में रचाई शादी, परिजनों को पता चला तो मचा बवाल

जानकारी मिलने पर एचआरटीसी के प्रबंध निदेशक संदीप कुमार, क्षेत्रीय प्रबंधक शिमला लोकल विनोद शर्मा, क्षेत्रीय प्रबंधक मुख्यालय देवा सिंह नेगी और अन्य अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। प्रबंध निदेशक संदीप कुमार बताते हैं कि अग्निकांड में एक पुरानी बस जलकर राख हुई है, कितनी संपत्ति का नुकसान हुआ है यह आंकलन के बाद ही कहा जा सकेगा। घटना के कारणों की जांच की जाएगी।