फिर हिरासत में देवभूमि क्षत्रिय और स्वर्ण संगठन कार्यकर्ता, CM विरोध से पहले बस में भरकर ले गई पुलिस

एम के बहारा विश्वविद्यालय में आने से पहले वाकनाघाट सब्जी मंडी के पास देवभूमि स्वर्ण संगठन और देवभूमि क्षत्रिय संगठन के कार्यकर्ता काले झंडे लेकर मुख्यमंत्री का विरोध करने के लिए खड़े थे।

फिर हिरासत में देवभूमि क्षत्रिय और स्वर्ण संगठन कार्यकर्ता, CM विरोध से पहले बस में भरकर ले गई पुलिस
हिरासत में देवभूमि क्षत्रिय और स्वर्ण संगठन कार्यकर्ता।

वाकनाघाट: लगातार विधायकों और मंत्रियों के विरोध में सड़कों पर उतर रहे देवभूमि स्वर्ण संगठन और देवभूमि क्षत्रिय संगठन के कार्यकर्ताओं को शुक्रवार को वाकनाघाट से हिरासत में लिया गया है। पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए संगठन कार्यकर्ता वाकनाघाट पहुंचे सीएम जयराम ठाकुर का विरोध करने के लिए एकत्र हुए थे, लेकिन सीएम जयराम के पहुंचने से पहले ही उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

दरअसल, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कंडाघाट के वाकनाघाट स्थित बहारा विश्वविद्यालय में नियामक आयोग द्वारा आयोजित समारोह ज्वाइंट प्लेसमेंट ड्राइव में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे। सीएम के बहारा विश्वविद्यालय में आने से पहले वाकनाघाट सब्जी मंडी के पास देवभूमि स्वर्ण संगठन और देवभूमि क्षत्रिय संगठन के कार्यकर्ता काले झंडे लेकर मुख्यमंत्री का विरोध करने के लिए खड़े थे। हालांकि मुख्यमंत्री का काफिला आने से पहले ही पुलिस ने सभी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। 

हिरासत में लिए गए सभी कार्यकर्ताओं को बस में बिठाकर कंडाघाट थाने ले जाया गया। मामले में आगामी कार्रवाई जारी है। आपको बता दें कि देवभूमि स्वर्ण और देवभूमि क्षत्रिय संगठन के कार्यकर्ता इससे पहले रेणुका जी और नालागढ़ में पहुंचे विधायकों का भी जोरदार विरोध कर चुके हैं, लेकिन सीएम का विरोध करने से पहले ही कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया।


 
ये है संगठनों का आरोप
दोनों ही संगठनों की मुख्य मांग हिमाचल में स्वर्ण आयोग के गठन को लेकर है। संगठनों का आरोप है कि लंबे समय से उनकी मांगों को दरकिनार किया जा रहा है और एक भी विधायक उनकी आवाज को बुलंद करने के लिए प्रयास नहीं कर रहा है। ऐसे में संगठनों द्वारा लगातार विधायकों का विरोध किया जा रहा है और संगठनों का ये गुस्सा विधायकों और मंत्रियों के विरोध के रूप में जगह-जगह सामने आ रहा है। गौरतलब है कि संगठन कार्यकर्ताओं ने अपनी आवाज को बुलंद करने के लिए रुमित सिंह ठाकुर और मदन ठाकुर की अगुवाई में राजनीतिक पार्टी का गठन भी कर लिया है। पार्टी का नाम देवभूमि जनहित पार्टी है, जो विधानसभा चुनाव 2022 में प्रदेश की हर विधानसभा क्षेत्र में अपने प्रत्याशी को उतारने की बात कर रही है।