आधी रात को नदी किनारे चल रहा था नाच-गाना, पर्यटकों से चरस बरामद, डीजे जब्त

ऐसे में उन तमाम लोगों के सामान की तलाशी ली गई। तलाशी लेने पर पर्यटकों से चरस बरामद की गई।

आधी रात को नदी किनारे चल रहा था नाच-गाना, पर्यटकों से चरस बरामद, डीजे जब्त
आधी रात को नदी किनारे चल रहा था नाच-गाना।

लाहौल-स्पितिः इन दिनों हिमाचल में काफी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। कल करीब आधी रात को पुलिस थाना केलांग की एक टीम संदिग्ध लोगों की गतिविधियों और वस्तुओं की चेकिंग के लिए रवाना हुई थी। आधी रात को जब ये टीम जस्पा के समीप पहुंची तो लाउडस्पीकर की ध्वनि सुनाई दी। 

ये आवाज भागा नदी के किनारे से आ रही थी। रात के समय इतनी तेज ध्वनि और शोर सुनाई देने पर ये टीम जब नदी किनारे पहुंची तो देखा कि खुले स्थान पर जिस्पा वैली कैम्प के परिसर में तेज आवाज में डीजे पर नाच गाना चला हुआ है। कई लोग डांस कर रहे थे। 

गौर रहे कि इतनी रात को खुले स्थान पर तेज गति से संगीत बजाना कानूनी जुर्म है। ऐसे में पुलिस के वहां पर पहुंचते ही कई लोग वहां से भाग खड़े हुए। कई लोगों को पुलिस ने पकड़ा और उनसे पूछताछ की। 

ऐसे में उन तमाम लोगों के सामान की तलाशी ली गई। तलाशी लेने पर उड़ीसा के एक पर्यटक जिसका नाम आयुष्मान था, उसके पास से करीब 13 ग्राम चरस बरामद की गई। इसके अलावा उड़ीसा के ही एक अन्य युवक के पास जिसका नाम आदित्य नारायण था, उसके पास भी करीब 17 ग्राम चरस बरामद की गई। साथ ही 1.99 ग्राम मनोप्रभावी पदार्थ MDMA बरामद किया गया। 

पुलिस ने तमाम आरोपियों के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। जिस्पा वैली कैंप मालिक तन्जिन निगसल पर भी तेज ध्वनि में संगीत चलाने के जुर्म में एचपी इंस्ट्रूमेंट कंट्रोल ऑफ नॉइस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। 

तमाम डीजे उपकरणों को जब्त किया गया। जबकि जिला पुलिस अधीक्षक लाहुलस्पीति ने जिले की स्थानीय जनता से अपील की कि जिले के शांतिपूर्ण माहौल को खराब ना करें। नशीले पदार्थों का सेवन ना करें और ना किसी को करने दें। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की पहचान बताने वालों की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।