घर में घुसकर 17 साल के प्रिंस से मारपीट, एट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज

गौर रहे कि बीते रविवार को झनिकर गांव में 17 वर्षीय प्रिंस को पड़ोसी ने घर में घुसकर मारा था। घटना के दौरान परिजनों ने बच्चे को बचाने की कोशिश की तो उन्हें भी चोटें आई हैं। घायल अवस्था में प्रिंस को स्थानीय सिविल अस्पताल ले जाया गया। जहां से उसे मेडिकल कॉलेज हमीरपुर के लिए रेफर किया गया।

घर में घुसकर 17 साल के प्रिंस से मारपीट, एट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज
पीड़ित युवक अपनी मां के साथ।

हमीरपुरः सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश में एससी/एसटी एक्ट के दुरुपयोग पर चिंता जताई थी। कहा था कि इसके तहत मामलों में तुरंत गिरफ़्तारी की जगह शुरुआती जांच की बात कही थी। इसे लेकर कई बार विवाद खड़े हो चुके हैं। खैर, खबर पर आते हैं। आज एक बार फिर हमीरपुर में एक आरोपी पर पुलिस अधीक्षक हमीरपुर के निर्देशों के बाद एट्रोसिटी एक्ट की धारा भी जोड़ी गई है।

मामला 
मामला टौणीदेवी के झनिकर गांव का है। एक युवक से मारपीट के मामले में परिजनों ने एसपी हमीरपुर से मुलाकात की है। जिलके बाद मामले में पुलिस अधीक्षक हमीरपुर के निर्देशों के बाद एट्रोसिटी एक्ट की धारा भी जोड़ी गई है। मामले की छानबीन अब स्थानीय चौकी के जांच अधिकारी नहीं बल्कि डीएसपी हेड क्वार्टर रोहिन डोगरा करेंगे। 

क्या कहते हैं परिजन
उनका कहना है कि स्थानीय पुलिस मामले में गंभीर नहीं है। उनके 17 वर्षीय बेटे के साथ उनके ही पड़ोसी ने घर में घुसकर मारपीट की थी। शिकायत उन्होंने टौणीदेवी पुलिस चौकी में दी, लेकिन मामले में गंभीरता से कार्रवाई नहीं की गई। परिजनों ने एसपी हमीरपुर से निष्पक्ष और जल्द कार्रवाई की मांग की। 

बीते रविवार की घटना
गौर रहे कि बीते रविवार को झनिकर गांव में 17 वर्षीय प्रिंस को पड़ोसी ने घर में घुसकर मारा था। घटना के दौरान परिजनों ने बच्चे को बचाने की कोशिश की तो उन्हें भी चोटें आई हैं। घायल अवस्था में प्रिंस को स्थानीय सिविल अस्पताल ले जाया गया। जहां से उसे मेडिकल कॉलेज हमीरपुर के लिए रेफर किया गया।

बालक को आई है गंभीर चोटें
प्राथमिक उपचार के बाद प्रिंस की गंभीर हालत को देखते हुए उसे टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया। आंख के नजदीक चोट होने के कारण एक नस भी ब्लॉक होने की बात कही गई है। 

एसपी से मिले परिजन
परिजनों ने सोमवार को इस मामले में एसपी हमीरपुर को ज्ञापन सौंप कर जल्द मामले में कार्रवाई करने की मांग उठाई। एसपी हमीरपुर आकृति शर्मा का कहना है कि मामले में परिजनों की बात को गंभीरता से सुना गया है। मामले में एट्रोसिटी एक्ट की धारा भी जोड़ी गई है। डीएसपी हेड क्वार्टर रोहिन डोगरा इस मामले में आगामी जांच दी गई है। 

क्या कहती हैं प्रिंस की माता जी
युवक की मां शीला देवी ने कहा कि मामले में स्थानीय पुलिस उचित और निष्पक्ष कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार को वो एसपी हमीरपुर से मिलने आए हैं ताकि इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई की जाए और उन्हें इंसाफ मिल सके।