चिट्टे के साथ धरी गई कोटखाई की युवती, शिमला में करती है BCA की पढ़ाई, जानें पूरा मामला

पुलिस को सूचना मिली थी कि भट्टाकुफर में छात्रों को चिट्टा सप्लाई किया जा रहा है। एसआईयू की टीम भट्टाकुफर पहुंची और वहां छात्रा को चिट्टे के साथ गिरफ्तार किया। 23 वर्षीय आरोपी छात्रा शिमला के कोटखाई की रहने वाली है।

चिट्टे के साथ धरी गई कोटखाई की युवती, शिमला में करती है BCA की पढ़ाई, जानें पूरा मामला
बीसीए छात्रा से चिट्टा बरामद (कॉन्सेप्ट इमेज)।

कोटखाई: हिमाचल में चिट्टे का प्रचलन युवतियों को भी अपने आगोश में ले रहा है। लाखों रुपये खर्च कर माता-पिता बच्चों को शहर में पढ़ाई करने भेजते हैं, लेकिन नशे की लत युवा पीढ़ी को खोखला करती जा रही है। पढ़ाई के बहाने पैसों को नशाखोरी में उड़ाया जा रहा है। ताजा मामला राजधानी शिमला से सामने आया है। जहां पुलिस ने बीसीए की पढ़ाई कर रही एक युवती से चिट्टा बरामद किया।

पुलिस को सूचना मिली थी कि भट्टाकुफर में छात्रों को चिट्टा सप्लाई किया जा रहा है। एसआईयू की टीम भट्टाकुफर पहुंची और वहां छात्रा को चिट्टे के साथ गिरफ्तार किया। 23 वर्षीय आरोपी छात्रा शिमला के कोटखाई की रहने वाली है और शिमला में एक निजी संस्थान से बीसीए की पढ़ाई कर रही है। छात्रा भट्टाकुफर में एक युवक से चिट्टा खरीद रही थी और इस दौरान उसे 12 ग्राम चिट्टे के साथ गिरफ्तार किया गया। जबकि युवती को चिट्टा देने वाला युवक मौके से फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी युवती को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर रखा है। पुछताछ के दौरान नशे के कई सौदागरों के नाम सामने आ सकते हैं। 

स्कूल-कॉलेज छात्र तस्करों का निशाना
हिमाचल पुलिस नशा तस्करों पर शिकंजा कसने के लिए लगातार अभियान चलाए हुए हैं। रोजाना आरोपियों को सलाखों के पीछे भी भेजा जा रहा है, लेकिन नशा सप्लाई करने वालों के तार विदेशों तक जुड़े हैं और चंद स्थानीय लोगों की सहभागिता से हमारी युवा पीढ़ी को बर्बाद करने के लिए जाल बुना गया है। नशा तस्कर कॉलेज, युनिवर्सिटी के छात्रों के साथ-साथ स्कूलों के बच्चों को भी टारगेट कर रहे हैं और युवाओं को ही सप्लायर बनाकर शिक्षण संस्थानों तक पहुंच रहे हैं। जरूरत है तो युवाओं को खुद जागरूक होने की और पुलिस के अभियान में स्थानीय लोगों की मदद की।