अग्निपथ पर बोली आशा कुमारीः वन रेंक-वन पेंशन की बात करने वालों ने बना दिया नो रेंक-नो पेंशन का माहौल

उन्होंने कहा कि हम युवाओं से अपील करते है कि वो सरकारी सम्पति को नुकसान ना पहुंचाए। अपनी बात बिना हिंसा के रख सकते है।

अग्निपथ पर बोली आशा कुमारीः वन रेंक-वन पेंशन की बात करने वालों ने बना दिया नो रेंक-नो पेंशन का माहौल
आशा कुमारी।

चंबाः हिमाचल प्रदेश कांग्रेस पार्टी की संचालन समिति की संयोजक और डलहौजी से कांग्रेस पार्टी की विधायिका आशा कुमारी अपनी बेबाकी के लिए जानी जाती है। आज एक बार फिर आशा कुमारी ने बेबाक अंदाज में प्रदेश और केन्द्र सरकार पर जमकर हमला बोला।

आशा कुमारी ने सरकार द्वारा शुरू की अग्निपथ योजना पर युवाओं का साथ दिया और कई सवाल खड़े किए। कहा की ये योजना युवाओं के लिए बिल्कुल सही नहीं है। इससे जहां युवाओं में रोष है। तो इसमें सरकार को तुरंत ये योजना वापिस लेनी चाहिए ताकि युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ ना हो सके। चार साल के बाद युवा क्या करेंगे। इसमें प्रावधान है कि पचीस प्रतिशत युवाओं की नौकरी आगे बढाई जाएगी लेकिन 75 प्रतिशत युवाओं का क्या करेंगे। 

उन्होंने कहा कि कोई प्रावधान नहीं है। हम युवाओं से अपील करते है कि वो सरकारी सम्पति को नुकसान ना पहुंचाए। अपनी बात बिना हिंसा के रख सकते है। जहां सरकार वन रेंक वन पेंशन की बात करती थी लेकिन सरकार ने अब नो रेंक नो पेंशन का माहोल बना दिया है। ऐसे में सरकार से अपील है कि केंद्र सरकार इस योजना को वापिस करें ताकि देश का युवा परेशान ना हो सके।

इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दो दिवसीय का चंबा दौरा किया और कई योजनाओं के शिलन्यास और उद्घाटन किए इस पर अब कांग्रेस पार्टी ने सवाल खड़े करते हुए कहा की मुख्यमंत्री का दौरा असफल रहा। 

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस पार्टी की संचालन समिति की संयोजक और डलहौजी से कांग्रेस पार्टी की विधायिका आशा कुमारी ने अपने निवास स्थान पर पत्रकारवार्ता की। काह कि मुख्यमंत्री का दौरा फ्लॉप साबित हुआ है। 

उन्होंने कहा कि यहां मेडिकल कॉलेज में स्टाफ नहीं है और मुख्यमंत्री इस पर बात नहीं करते हैं। सीएम सिर्फ हवा-हवाई बातें करते हैं। जबकि धरातल पर कोई काम नहीं हो पा रहा है।