ऊना में युवाओं ने सड़क पर मारे पुश-अप, तनावपूर्ण हो गया था माहौल, जोरदार प्रदर्शन

युवाओं की ये रैली इंदिरा गांधी खेल परिसर से डीसी कार्यालय तक निकली। लेकिन शहर के सबसे व्यस्ततम ट्रैफिक लाइट चौक पहुंचते-पहुंचते युवाओं ने चक्का जाम कर डाला। शांतिपूर्वक चल रहा विरोध प्रदर्शन तनावपूर्ण हो गया था।

ऊना में युवाओं ने सड़क पर मारे पुश-अप, तनावपूर्ण हो गया था माहौल, जोरदार प्रदर्शन
ऊना में युवाओं का जोरदार प्रदर्शन।

ऊनाः केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में लांच की गई अग्निपथ योजना का विरोध आज भी जारी रहा। ना केवल यूपी-बिहार में बल्कि हिमाचल में भी। शनिवार को ऊना मुख्यालय की इंदिरा गांधी खेल परिसर से सैकड़ों युवाओं ने इस योजना के विरोध में जोरदार रैली निकालते हुए जमकर प्रदर्शन किया। 

युवाओं की ये रैली इंदिरा गांधी खेल परिसर से डीसी कार्यालय तक निकली। लेकिन शहर के सबसे व्यस्ततम ट्रैफिक लाइट चौक पहुंचते-पहुंचते युवाओं ने चक्का जाम कर डाला। शांतिपूर्वक चल रहा विरोध प्रदर्शन तनावपूर्ण हो गया। जिसके बाद एसपी अर्जित सेन ठाकुर समेत तमाम आला अधिकारियों को मौके पर पहुंचकर स्थिति संभालनी पड़ी। 

चक्का जाम के दौरान कई बार पुलिस और युवाओं के बीच टकराव की स्थिति भी बनती रही। युवाओं के प्रदर्शन के दौरान हमीरपुर रोड, धर्मशाला रोड और चंडीगढ़ रोड पर कई किलोमीटर लंबा जाम देखा गया।

केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए करीब डेढ़ वर्ष पहले आयोजित की गई आर्मी भर्ती रैली में ग्राउंड टेस्ट क्लियर कर चुके युवाओं की लिखित परीक्षा जल्द करवाने की मांग उठाई गई। 

इसके अलावा उन्होंने हाल ही में लांच की गई अग्निपथ योजना को तुरंत वापस लेने के लिए भी आवाज बुलंद की। जाम लगने की सूचना मिलते ही जिला पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन ठाकुर और तमाम आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। हालांकि युवाओं को खदेड़ने के लिए पुलिस द्वारा हल्का बल प्रयोग भी किया गया लेकिन इसके बावजूद युवाओं की भीड़ चक्का जाम पर अड़ी रही। 

आपको ये भी बता दें कि करीब एक घंटे तक ट्रैफिक लाइट चौक पर जमकर हंगामा चलता रहा। रैली की अगुवाई कर रहे कांग्रेस नेता दीपक लट्ठ और युवा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता एडवोकेट शोभित गौतम ने केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का जमकर विरोध करते हुए इसे युवाओं के साथ खिलवाड़ करार दिया। 

कहा कि इस योजना को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा अग्निवीरों की भर्ती के लिए लांच की गई इस योजना को युवाओं के साथ छलावा करार देते हुए उनके भविष्य को अंधकार में धकेलने वाली योजना बताया।

उन्होंने कहा कि फिलहाल युवाओं ने इस मामले को लेकर शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन किया है, यदि सरकार अपने फैसले से नहीं पलटी तो विरोध प्रदर्शन का स्वरूप और भी उग्र हो सकता है।