स्विट्जरलैंड की बिथॉर्न चोटी पर हिमाचल की आंचल ने फहराया तिरंगा, बनाया विश्व रिकॉर्ड

महिला सशक्तिकरण का संदेश लेकर निकलीं ये महिलाएं भारतीय समय के अनुसार शुक्रवार रात करीब नौ बजे चोटी पर पहुंचीं। जहां भारत का प्रतिनिधित्व कर रही आंचल ने तिरंगा लहराया।

स्विट्जरलैंड की बिथॉर्न चोटी पर हिमाचल की आंचल ने फहराया तिरंगा, बनाया विश्व रिकॉर्ड
स्विट्जरलैंड की बिथॉर्न चोटी पर आंचल ठाकुर ने लहराया तिरंगा।

कुल्लू: हिमाचल की अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग चैंपियन आंचल ठाकुर ने शुक्रवार को 25 देशों की 80 महिलाओं के साथ स्विट्जरलैंड की 4,164 मीटर ऊंची बिथॉर्न चोटी पर भारत का राष्ट्रीय ध्वज लहराकर विश्व रिकॉर्ड बनाया। बिथार्न चोटी की उंचाई बेशक उतनी ज्यादा न हो, लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस चोटी की चढ़ाई करने वाली इन महिलाओं में कोई भी पर्वतारोहण की अनुभवी नहीं थी, बल्कि कोई खेल जगत से जुड़ी थीं, कोई कारोबारी थीं तो कोई कोई टीवी एंकर।

मनाली की आंचल स्कीइंग में देश के लिए कई मेडल जीत चुकी हैं। इसी के मद्देनजर आंचल इस अभियान के लिए चयनित की गई थी। आंचल 10 जून को मनाली से स्विट्जरलैंड के लिए रवाना हुई थीं। महिला सशक्तिकरण का संदेश लेकर निकलीं ये महिलाएं भारतीय समय के अनुसार शुक्रवार रात करीब नौ बजे चोटी पर पहुंचीं। जहां भारत का प्रतिनिधित्व कर रही आंचल ने तिरंगा लहराया। 

दरअसल, स्विट्जरलैंड के पर्यटन विभाग का यह दुनिया का ऐसा पहला अभियान था, जिसमें सिर्फ महिलाओं ने ही हिस्सा लिया। पर्वतारोही से लेकर तमाम सहयोगी महिलाएं ही रहीं। अभियान का मकसद ये दिखाना था कि महिलाएं किसी से कम नहीं हैं। पूर्व में यह अभियान स्विट्जरलैंड की 4,027 ऊंची एललेनहॉर्न चोटी पर होना था, लेकिन भौगोलिक परिस्थितियां सही नहीं होने के कारण बिथॉर्न चोटी को चुना गया। आंचल इस अभियान के लिए भारत की ओर से राजदूत चुनी गई थीं।

चोटी को फतह करने के बाद आंचल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर वीडियो और फोटो साझा कर लिखा- आखिरकार ब्रिथॉर्न चोटी पर भारतीय ध्वज लहराकर विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया। मैं उत्साहित हूं भारत। 25 देशों की 80 महिलाओं के साथ चढ़ाई करना कितना अविश्वसनीय अहसास था। मैं 100% महिला विश्व रिकॉर्ड में एक राजदूत के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए सम्मानित महसूस कर रही हूं। मैंने अपने पूरे जीवन में कभी ऐसा कुछ अनुभव नहीं किया है।