पेपर लीक मामला: अर्की से महिला अभ्यर्थी समेत 7 गिरफ्तार, दलाल ने ही किया भंडाफोड़, 21 मई तक मिला पुलिस रिमांड

देश में अब तक सबसे अधिक गिरफ्तारियां सोलन जिले से ही हुई हैं। इनमें कुछ आरोपी पुलिस रिमांड पर हैं। वहीं, गिरफ्तार किए गए सात आरोपियों को अर्की कोर्ट में पेश किया गया, जहां..

पेपर लीक मामला: अर्की से महिला अभ्यर्थी समेत 7 गिरफ्तार, दलाल ने ही किया भंडाफोड़, 21 मई तक मिला पुलिस रिमांड
पेपर लीक मामले में अर्की से 7 गिरफ्तार (डिजाइन फोटो)।

सोलन/अर्की: पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में एक के बाद एक बड़े खुलासे होते जा रहे हैं। मामले में अभी तक करीब 400 आरोपियों से पूछताछ की जा चुकी है। पेपर लीक मामले में गुरुवार को सोलन जिला के अर्की से सात अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया गया है। जिनमें एक महिला अभ्यर्थी भी शामिल हैं।

आपको बता दें कि प्रदेश में अब तक सबसे अधिक गिरफ्तारियां सोलन जिले से ही हुई हैं। इनमें कुछ आरोपी पुलिस रिमांड पर हैं। वहीं, गिरफ्तार किए गए सात आरोपियों को अर्की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 21 मई तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। पुलिस पूछताछ में अर्की से गिरफ्तार पिता-पुत्र ने कबूल किया है कि उन्होंने साढ़े चार लाख रुपये एक दलाल को दिए थे। 


मामले में गठित एसआईटी ने यह कार्रवाई बुधवार को पानीपत से गिरफ्तार आरोपी रौनिक धनकर से पूछताछ के बाद की है। रौनिक धनकर पर सोलन जिले के कई अभ्यर्थियों को परीक्षा से पहले पेपर रटाने का आरोप है। धनकर की निशानदेही के आधार पर अब एसआईटी चिटिंग करने वालों तक पहुंच रही है।


मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का एलान किया था। जिसका कारण मामले में पुलिस कर्मियों की संलिप्ता पर लगातार उठ रहे सवाल और अपराधियों का नेटवर्क कई राज्यों में होना बताया गया है। सीबीआई इस मामले की अगले सप्ताह से अपनी जांच शुरू कर सकती है और तब तक मामले में एसआईटी की पड़ताल ही जारी रहेगी।